BSEB 12th Hindi Subjective & Objective Answer key Sent-up Exam 2023

BSEB 12th Hindi Subjective & Objective Answer key Sent-up Exam 2023

Sent-up Exam 2023 12th Hindi Objective Answer key 

Sent-up Exam 2023 12th Hindi subjective Answer key 

Q .1
(v) आपदा प्रबंधन पर निबंध (Aapda prabandhan nibandh in Hindi),
Ans-: आपदा से होने वाले हानिकारक प्रभावों को न्यूनतम करने और समुचित संगठन और योजनाओं के माध्यम से उनका प्रबंधन करने की प्रक्रिया है। आपदा प्रबंधन (Disaster Management in Hindi) एक संगठित दृष्टिकोण है जो विभिन्न संस्थाओं, सरकारों, सामुदायिक संगठनों, और व्यक्तियों के सहयोग से संचालित होता है। आपदा प्रबंधन पर निबंध (Aapda prabandhan nibandh in Hindi in Hindi) का मुख्य उद्देश्य आपदा के दौरान जीवन, संपत्ति, और पर्यावरण की सुरक्षा सुनिश्चित करना होता है। आपदा प्रबंधन हमारे समाज के लिए अत्यंत जरूरी है। यह हमें आपदा से होने वाले हानिकारक प्रभावों से बचाने और उनका प्रबंधन करने में मदद करता है। इससे हमारी सुरक्षा बढ़ती है और हम सकारात्मक रूप से प्रतिक्रिया कर सकते हैं। आपदा प्रबंधन पर निबंध (Disaster Management in Hindi) के द्वारा हम आपदा के समय तत्परता और तय्यारी की अवस्था में रह सकते हैं और आपदा के बाद के संकटों का सामना करने के लिए तैयार हो सकते हैं। इसके अलावा, आपदा प्रबंधन पर निबंध (Disaster Management in Hindi) से हम सामुदायिक एकता और सहयोग का संदेश भी देते हैं जो हमारे समाज की आधारभूत वृद्धि के लिए आवश्यक है।

Q. 2
(i). “प्रत्येक पत्नी अपने पति को बहुत कुछ उसी दृष्टि से देखती है जिस दृष्टि से लता अपने वृक्ष को देखती होगी ।”
Ans-: इस प्रसंग के माध्यम से कवि कहता है कि स्त्री को इतना कोमल और कमजोर बना दिया गया है कि वह पूरी तरह से पुरुष पर निर्भर हो गई है। जैसे वृक्ष के नीचे उसकी लता होती है। उसी तरह पत्नी भी पुरुषों के अधीन होती है। वह पुरुष के अधीन है, इसलिए स्त्री का अस्तित्व संकट में है। अपना वजूद खोता जा रहा है। उसका सुख-दुःख, मान-अपमान, जीवन-मरण भी मनुष्य की मर्जी पर हो गया है। एक महिला का पूरा जीवन उसके पति यानी पुरुष की मर्जी पर रुक गया है। उसने अपने पति को अपना भगवान मान लिया है जैसे उसका पति ही उसका कर्मदाता है। महिलाओं ने अपने पति को अपनी बैसाखी के रूप में स्वीकार कर लिया है। जिसके सहारे वह अपनी नैया पार लगाएगी।

(ii) जादू टूटता है इस उषा का अब सूर्योदय हो रहा है।
Ans-: सूर्योदय होने पर उषा का जादू टूट जाता है क्योंकि सूर्य की किरणों के प्रभाव से आसमान में छायी लालिमा समाप्त हो जाती है।

Q. 3 👇👇👇👇👇👇👇👇

12th pass tc application in hindi

Q. 4 👇👇👇👇👇👇👇

 

Q. 5 👇👇👇👇👇

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page